छत्तीसगढ़:- दूल्‍हा एक दुल्‍हन दो एक ही मंडप में युवक ने रचाई शादी, परिवार ने भी दी सहमति

दूल्‍हा एक दुल्‍हन
शेयर कीजिए सर

352 total views, 3 views today

छत्तीसगढ़ में कोंडागांव जिले के विश्रामपुरी में एक अनूठी शादी हुई। इसमें दूल्हा एक ही था लेकिन दुल्हनें दो। एक ही वक्त में युवक ने दो लड़कियों से शादी की। वह भी परिवार की रजामंदी के साथ। दोनों युवतियों को भी इस शादी से कोई ऐतराज नहीं था। 23 साल के किशोर कुमार नेताम ने गांव की ही एक 21 साल की पूनम और 20 साल की युवती कविता के साथ फेरे लिए।

मामला प्रेम प्रसंग का है। किशोर कुमार की पूनम के साथ शादी तय हुई। इसकी गांव में चर्चा हुई तो नजदीक के गांव मारंगपुरी की रहने वाली कविता ने इस पर आपत्ति की और शादी की इच्छा जताई। इसके बाद किशोर ने यह बात परिवार के लोगों के बीच रखी। स्थिति को देखते हुए युवक के मां-बाप ने भी इस फैसले पर सहमति जताई।

छत्तीसगढ़ः 11वीं की छात्रा ने स्कूल हॉस्टल में दिया बच्चे को जन्म, हड़कंप…देखिये पूरी खबर

इसके बाद गोंडवाना रीति-रिवाज के तहत गांव में यह शादी समारोह संपन्न  करवाया गया। बाकायदा किसी सामान्य शादी की तरह परिवार कर हर सदस्य इस शादी में शामिल हुआ, रिश्तेदारों को कार्ड भी बांटे गए, इनमें दोनों दुल्हनों की जानकारी भी लिखी गई थी।

शादी से पहले बच्चे का जन्म 

किशोर की दोनों पत्नियों में से एक मारंगपुरी की रहने वाली कविता ने शादी से कुछ ही दिन पहले ही एक बच्चे को जन्म दिया है। यह किशोर का ही बच्चा है। इस बच्चे का नामकरण फिलहान नहीं हुआ है, कविता का पिछले कुछ सालों से किशोर के साथ संबंध था। इस वजह से कविता ने किशोर पर शादी का दबाव बनाया।

आदिवासियों पर हिंदू लॉ लागू नहीं होता

अधिवक्ता और कोया समाज के बस्तर संभाग अध्यक्ष देवदास कश्यप ने बताया कि 1935 के आदिवासी लॉ में बहुपत्नी यानी एक से ज्यादा पत्नी स्वीकार्य हैं। नियमों के मुताबिक, इसके लिए दोनों पक्षों व समाज की स्वीकृति होना अनिवार्य है। हिंदू लॉ में दो पत्नी रखना अस्वीकार्य है। इसमें शिकायत कार्रवाई का प्रावधान है। आदिवासियों पर हिंदू लॉ लागू नहीं होता है।

About Admin

रवि पटेल खरसिया रायगढ़

View all posts by Admin →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *