एक जनवरी से 6000 रुपये तक महंगे हो जाएंगे फ्रिज व एसी..जानिए ऐसे क्यों

फ्रिज व एसी
शेयर कीजिए सर

614 total views, 3 views today

एक जनवरी 2020 से उपभोक्ताओं को फ्रिज और एसी जैसे उत्पाद खरीदने के लिए जेब ज्यादा ढीली करनी पड़ेगी। ऐसा इसलिए क्योंकि जनवरी से ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशियंसी (बीईई) फाइव स्टार रेटिंग देने के लिए नए मानक लागू कर देगा। इससे कंपनियों को कीमतों में छह हजार रुपये तक का इजाफा करना होगा।

उद्योग संगठन कंज्यूमर इलेक्ट्रोनिक्स एंड अप्लाइंसेस मैन्युफैक्चर्स एसोसिएशन ने कहा कि कंपनियों को फ्रिज और एसी में कूलिंग के लिए पारंपरिक फोम की जगह वैक्यूम पैनल इस्तेमाल करना पड़ेगा। यह उद्योग के लिए एक चुनौती होगा। इसके अलावा फ्रोस्ट फ्री और डायरेक्ट कूलिंग में एक स्टार का बदलाव होगा। अध्यक्ष कमल नंदी ने कहा कि  एनर्जी एफिसिएंशी नॉर्म्स में जनवरी से हो रहे बदलाव के कारण उद्योग को फाइव स्टार रेफ्रिजरेटर्स लाना मुश्किल होगा।

इस तकनीक को लाने के लिए कंपनियों को अपनी फैक्टरी में नया निवेश करना होगा। हालांकि अभी कोई कंपनी नया निवेश नहीं करना चाहती है। लेकिन ऐसा न करने से कंपनियां अपने उत्पादों पर फाइव स्टार रेटिंग नहीं ले पाएंगी।

DRDO Recruitment 10 वीं पास वालो के लिए रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन में भर्तियाँ में 1845 पदों पर भर्ती …देखिये डिटेल्स

2024-25 में एयर कंडीशनिंग बाजार का आकार 2018-19 के 65 लाख से 165 लाख यूनिट तक बढ़ने की उम्मीद है, जबकि रेफ्रिजरेटर  खंड में 2018-19 की 145 लाख इकाइयों की तुलना में 275 लाख यूनिट तक उत्पादन बढ़ सकता है। इसी तरह टीवी बाजार का आकार 2018-19 की 175 लाख की तुलना में 2024-25 में बढ़कर 284 लाख यूनिट हो सकता है और वाशिंग मशीन खंड में 2018-19 की 70 लाख यूनिट से अगले पांच सालों में 126 लाख यूनिट तक हो सकती है।

About Admin

रवि पटेल खरसिया रायगढ़

View all posts by Admin →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *