रायपुर डबल मर्डर :- टिकटॉक वीडियो देख प्रेमी ने दोस्तों संग दिया डबल मर्डर को अंजाम, आरोपी गिरफ्तार

शेयर कीजिए सर

रायपुर. टिकरापारा थाना अंतर्गत गोदावरी नगर स्थित मकान में दो दिन पहले दो बहनों की हत्या का मामला सुलझाते हुए पुलिस ने मुख्य आरोपी सैफ सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया कि मृतिका मंजू और मुख्य आरोपी सैफ दोनों पति पत्नी थे। उन्होंने सात माह पहले ही रायगढ़ कोर्ट में शादी की थी। घर वालों के दबाव के चलते मंजू सैफ से अलग रहने लगी थी। पुलिस मामले में शामिल अपचारी बालक को जांजगीर स्थित उसके घर और अन्य आरोपी सैफ व गुलाम मुस्तफा को मध्य प्रदेश के सतना जिले से गिरफ्तार किया है। दोनों गिरफ्तार कर रायपुर लाया गया, जहां उनसे पूछताछ की जा रही है।

मामले का खुलासा करते रायपुर के एसएसपी आरिफ एच शेख और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक क्राइम पंकज चंद्रा ने बताया कि लिटिल फ्लावर स्कूल गोदावरी नगर टिकरापारा निवासी इंद्रचंद साहू ने डबल मर्डर की सूचना 10 दिसंबर को दी थी। टिकरापारा पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज से आरोपियों की पहचान कर उन्हें पकडऩे की योजना बनाई। इस दौरन सीसीटीवी फुटेज वायरल हो जाने से आरोपी अलर्ट हो गए और वह लोग टाटीबंद, दुर्ग फिर वहां से बिलासपुर होते हुए अनूपपुर, शहडोल, मैहर और फिर सतना जाकर छिप गए थे। पुलिस ने मामले में शामिल नाबालिग आरोपी को जांजगीर चांपा जिला पहुंचकर उसके घर से पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद मुख्य आरोपी सैफ व उसके दोस्त गुलाम मुस्तफा को पकडऩे के लिए सतना पुलिस को प्वाइंट दिया। रायपुर और सतना पुलिस ने मिलकर दोनों आरोपियों को बुधवार रात सतना से गिरफ्तार किया। इसके बाद उन्हें गुरुवार शाम तक रायपुर लाया गया।
हत्या करने की यह थी मुख्य वजह

पुलिस पूछताछ में शोएब अहमद अंसारी उर्फ सैफ (२५) ने बताया कि वह बोईदादर रायगढ़ का रहने वाला है। डेढ़ साल पहले फेसबुक के जरिए उसकी मंजू से बातचीत शुरू हुई थी। इसी दौरान किसी कार्यक्रम में शामिल होने मंजू रायगढ़ आई तो दोनों की वहां मुलाकात हुई। इस दौरान दोनों में गहरी दोस्ती हो गई। दोनों ने 21 मई 2019 को रायगढ़ कोर्ट में शपथ पत्र देकर शादी भी कर ली। सैफ और मंजू का यह रिश्ता मंजू के घरवालों को मंजूर नहीं था।

कोरबा छत्तीसगढ़ में सहायक ग्रेड -3 की भर्ती..आवेदन करने की अंतिम तारीख 20 दिसम्बर 2019

घरवालों के दबाव में आकर मंजू सैफ से दूर रहने लगी और उसे बातचीत भी बंद कर दिया था। एक महीने पहले सैफ ने मंजू और अपनी फोटो फेसबुक में अपलोड कर दी। इसे लेकर मंजू और उसके परिजनों ने 3 नवंबर को रायगढ़ जिले के चक्रधर नगर थाने में शिकायत भी दर्ज कराई थी। मामला पति पत्नी का होने से पुलिस ने दोनों के बीच सुलह करवा दिया। इसके बाद मंजू ने किसी अन्य लड़के साथ एक टिकटॉक वीडियो बनाकर अपलोड किया। इसकी जानकारी जब सैफ को हुई तो काफी गुस्से में आ गया और उसने उसकी हत्या की योजना बना डाली।

 

उसने रायगढ़ चांदमारी निवासी अपने दोस्त गुलाम मुस्तफा (18) व जांजगीर चांपा जिले के रहने वाले नाबालिग लड़के को इस प्लान में शामिल किया। इसके लिए सैफ ने गुलाम मुस्तफा को सात लाख व नाबालिग लड़के को 15000 रुपए देने का लालच दिया था। इसके बाद तीनों घटना दिनांक को ट्रेन से रायपुर पहुंचे।

 

इसके बाद सैफ ने मंजू से आखिरी बार मिलने की बात कहकर उसके किराये के मकान पर पहुंचा। उन्होंने रेकी करने के लिए अपचारी बालक को बाहर खड़ा किया और गुलाम मुस्तफा के साथ कमरे में गया। यहां मंजू और सैफ के बीच काफी झगड़ा बढ़ गया तो सैफ ने पास पड़े फ्राईपैन से मंजू के ऊपर हमला कर दिया। इससे पहले कि मनीषा कुछ बोलती गुलाम मुस्तफा ने उसके ऊपर भी फ्राईपैन से वार कर दिया। जब दोनों खून से लतपथ हो गईं तो गमछे गला घोंटकर उनकी हत्या कर दी और तीनों आरोपी वहां से फरार हो गए।
रायगढ़ पुलिस की लापरवाही आई
सामने इस मामले में रायगढ़ पुलिस की लापरवाही सामने आ रही है। यदि गत तीन नंबर को शिकायत के बाद चक्रधर नगर पुलिस कुछ कार्रवाई करती तो शायद यह घटना नहीं घटती। इसे लेकर रायपुर एसएसपी आरिफ एच शेख ने कोई भी टिप्पणी करने से मना कर दिया ।

खादी और ग्रामोद्योग आयोग में भर्तियाँ….आवेदन केसे करे देखिये पूरा डिटेल

Back to top button
error: Content is protected !!
Close
Close